हमें चाहने वाले मित्र

10 अगस्त 2017

देश में झूंठ ,फरेब ,,जुमले ,,,,भ्रष्टाचार बिकाऊ मीडिया माहौल ,,नौकरी पर रखे सोशल मिडिया वर्कर

देश में झूंठ ,फरेब ,,जुमले ,,,,भ्रष्टाचार बिकाऊ मीडिया माहौल ,,नौकरी पर रखे सोशल मिडिया वर्कर ,,द्वारा रचित छद्म माहौल बनाकर अन्ना हज़ारे ,,बाबा रामदेव को रिश्वत और सुविधाओं के बल पर खामोश करते हुए ,, सत्ता की चाबी अपनी जेब में रखकर घूमने वाले ,,नरेंद्र मोदी ,,अमित शाह ,,अपने ग्रह राज्य गुजरात में इतराते हुए ,,लोकतंत्र की मर्यादाये भंग करते हुए अरबो रूपये का पैकेज लेकर गए ,थे ,लेकिन कांग्रेस की एक छोटी सी अंगड़ाई ,,,समझबूझ ने उन्हें चारो खाने चित कर दिखाया ,,,,,कांग्रेस की इस रणनीति से बोखलाए भाजपा के शीर्ष लोग ,,अपना दर्द न सह पा रहे है ,,न कह पा रहे है ,,गुजरात राज्य सभा का चुनाव ,,अहमद पटेल का चुनाव नहीं बल्कि ,,सोनिया गाँधी बनाम ,,नरेंद्र मोदी के बीच का चुनाव था ,एक तरफ सरकारी दुरूपयोग ,,धन बल ,,बाहुबल ,,केंद्र सरकार ,थी दूसरी तरफ ,,कांग्रेस का हौसला और सियासी रणनीति थी ,,लेकिन सच तो सच था ,,,सोनिया गाँधी जीती ,,नरेंद्र मोदी हारे ,,,भाजपा निराशवाद में गयी ,,कांग्रेस आशावाद की तरफ पहुंची है ,,,गुजरात राज्यसभा चुनाव में यूँ तो हम कुछ नहीं ,,लेकिन एक नीतिकार ,,एक समर्थक की हैसियत से ,,कोटा से मुझे अख्तर खान अकेला को ,,हाफिज अब्दुल रशीद क़ादरी ,,अब्दुल करीम खान को ,तबरेज़ पठान को भी ज़िम्मेदारी सौंपी गयी थी ,हम और हमारी टीम ,,गुजरात प्रदेश कांग्रेस समिति कार्यालय राजीव गांधी भवन में रणनीतिकारों के साथ थे ,,कभी गाँधी नगर विधानसभा तो कभी ताज होटल ,मेराथन बैठके ,,सियासी विचार पर मंथन था ,,एक एक आंकड़े पर बारीकी से नज़र थी ,,हमारे साथ अल्पसंख्यक विभाग के राष्ट्रीय अध्यक्ष खुर्शीद सय्यद साहब ,,गुजरात अल्पसंख्यक विभाग के प्रदेश अध्यक्ष गुलाब खान ,,,दिल्ली कांग्रेस की एडवोकेट सीमा जोशी ,,,,गुजरात आई टी सेल के प्रदेश उप प्रमुख जुबेर पटेल ,,,राजेंद्र पुरोहित ,,,शफी खान ,भडूच के आज़म खान ,,गुजरात प्रदेश प्रवक्ता सहित कई साथी पूर्व विधायक ,,पूर्व सांसद कांग्रेस के पदाधिकारी मौजूद थे ,,सुबह सवेरे रणनीति तैयार हुई ,,प्रभारी राष्ट्रिय महाचिव अशोक गहलोत ,,अहमद पटेल ,लगातार एक एक मिनट की खबरों पर नज़र रख रहे थे ,,वोट डलने के बाद ,,जैसे ही वोट दिखाकर डालने का मुद्दा आया ,,तत्काल रणनीति बनी ,,अशोक गहलोत तीन बजे की फ्लाइट से दिल्ली रवाना हुए ,,कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओ के साथ अचानक दो बागी विधायकों द्वारा वोट दिखा कर डालने का मुद्दा जब उठा ,,तो भाजपा बैकफुट पर आ गयी ,,बोखला गयी ,,,वोटिंग होते ,,ही अग्रिम जश्न बनाते हुए ,,,,,गांधीनगर के मंदिर परिसर में भोज का आयोजन हुआ जहाँ अहमद पटेल ने दूरदराज़ से आये सभी समर्थको का आभार जताया ,,,अहमद पटेल ताज होटल में पहुंच कर स्थिति पर नज़र रखे हुए थे ,,उनके निर्देशानुसार ,,पूरी टीम कार्यरत थी ,हमने देखा ,,भाजपा के लोगो ने करोडो करोड़ रूपये की आतिशबाज़ी इस जश्न को बनाने के लिए खरीद की थी ,,जगह चयनित ,,कर इस जीत का जश्न बनाने की तैयारी थी ,,लेकिन गुरु तो गुरु होता है ,,,अमित शाह ,,स्मृति ईरानी ,,के चेहरे पर हवाइयां थी ,,मिडिया मैनेजमेंट के चलते ,,गुजरात टी वी में फ़र्ज़ी खबरे ,अहमद पटेल के हारने ,,सेकंड प्रफ्रेंस के वोटों की गिनती की पेंशन गयी चल रही थी ,,दो वोट विधायकों के कहीं स्मृति ईरानी को नहीं डल गए ,,इस खौफ से स्मृति ईरानी कहीं चुनाव न हार जाए ,,भाजपा घबराइ हुई थी ,,हज़ारो कांग्रेस कार्यकर्ता ,,गाँधी नगर विधानसभा ,,प्रदेश कांग्रेस कार्यालय ,,ताज होटल के बाहर जमा थे ,,,सभी की निगाहे टी वी पर थी ,दिल्ली के चुनाव आयोग के फैसले पर थे ,,आखिर केंद्रीय मंत्रियों के खुले दबाव के बाद भी सुप्रीम कोर्ट के आदेश को ,,,आयोग को स्वीकार करते हुए ,बागी कोंग्रेसियो के दो वोट ख़ारिज करना पढ़े ,,,बार बार काउंटिंग को रोकने की कोशिश में भाजपाई जुटे ,,लेकिन कांग्रेस के कार्यकर्ता करो या मारो ,,करेंगे और करके ही रहेंगे के नारे के साथ अहमद पटेल ,,ज़िंदाबाद ,,सोनिया गाँधी ज़िंदाबाद ,,राहुल गाँधी ज़िंदाबाद के जयघोष नारो के साथ उत्साहित थे हम लोग शाह आलम की दरगाह पर पहुंच कर जीत की अर्ज़ी लगाकर आये ,तो कुछ लोग मंदिरो में ,गुरुद्वारों में जीत की प्रार्थना कर रहे थे ,,कांग्रेस कार्यालय के पास स्थित एक मस्जिद में विशेष दुआ करते हुए हाफिज अब्दुल रशीद क़ादरी ने दो नफिल शुक्राने की नमाज़ अदा करवाई ,,,,,,,क़रीब दो बजे ,,गिनती पूरी हुई ,,अहमद पटेल के सुरक्षा अधिकारी ने आकर ताज होटल से अहमद पटेल को साथ लिया ,,,अहमद पटेल ने समर्थको को धन्यवाद दिया ,मिले और गांधीनगर निर्वाचन प्रमाणपत्र लेकर ,,प्रदेश कांग्रेस कार्यालय राजीव गाँधी भवन पहुंचे ,,भाजपा के घर मातम ,,था ,,भाजपा के बेंड बजे ,,धरे रहे गए ,,भाजपा कार्य्रकर्ताओ द्वारा खरीद पठाखे आधी से भी कम क़ीमत में कांग्रेस कांग्रेस कार्यकर्ताओ को देने की पेशकश करते भाजपा इवेंट कार्यकर्ता नज़र आये ,,रात्रि तीन बजे ,,गुजरात कांग्रेस कार्यालय में दीपावली ,, ईद के जश्न जैसा माहौल था ,,एक कार्यकर्ता ने रावण दहन के साथ पटाकेबाज़ी की ,एक घंटे तक पटाखों की धमाके ,,जीत की चमक के बीच अहमद पटेल कार्यकर्ताओ के साथ भावुक होकर मिलते रहे ,अहमद पटेल ने कोटा की टीम अख्तर खान अकेला ,,अब्दुल रशीद क़ादरी ,,अब्दुल करीम खान ,,तबरेज़ पठान का स्वागत स्वीकार किया ,,कांग्रेस सरोपा सभी के गले में डाला गया ,,कोटा से पहुंचकर रणनीति का हिस्सेदार बनने पर धन्यवाद दिया गया ,,,और कांग्रेस में एक नयी आशा ,एक नई उम्मीद ,,बुराई के खिलाफ भलाई ,,,झूंठ के खिलाफ ,सच्चाई की जीत के हौसले के साथ ,,हम सभी कार्यकर्ता ,,कोटा के लिए रवाना हो गए ,,,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

दोस्तों, कुछ गिले-शिकवे और कुछ सुझाव भी देते जाओ. जनाब! मेरा यह ब्लॉग आप सभी भाईयों का अपना ब्लॉग है. इसमें आपका स्वागत है. इसकी गलतियों (दोषों व कमियों) को सुधारने के लिए मेहरबानी करके मुझे सुझाव दें. मैं आपका आभारी रहूँगा. अख्तर खान "अकेला" कोटा(राजस्थान)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...